Ncert solutions class 10 science chapter 7 - niyantran avam samanvay

नमस्कार दोस्तो आज मैं आपके लिए ले कर आया हु विज्ञान का चैप्टर 7 का नियंत्रण एवं समन्वय पाठ का प्रश्न और उत्तर। ये सभी प्रश्न ncert पर आधारित है इसलिये ये सभी प्रश्नों को आप जरूर याद करे?


Ncert solutions class 10 science chapter 7 - niyantran avam samanvay


प्रतिवर्ती क्रिया तथा टहलने के बीच अंतर क्या है?

प्रतिवर्ती क्रिया
1 यह अनैच्छिक  प्रतिक्रिया है।
2  यह शरीर के अंगों की अचानक तथा तीव्र प्रतिक्रिया होती है।
3 यह मेरुरज्जु द्वारा नियंत्रित होती है।
4 प्रतिवर्ती क्रिया में केवल शरीर का एक भाग प्रतिक्रिया करता है ना कि पूरा शरीर।

टहलना

1 यह ऐच्छिक प्रतिक्रिया है।
2 यह समय पर लेकिन धीमी प्रतिक्रिया होती है।
3 यह मस्तिष्क द्वारा नियंत्रित होती है।
4 टहलने का अर्थ है पूरे शरीर का एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाना।

2 दो तांत्रिक कोशिकाओं ( न्यूरॉन) के मध्य अंतगर्त (सिनेप्स) में क्या होता है?
दो तंत्रिका कोशिकाओं के मध्य एक रिक्त स्थान होता है जिसे सिनेप्स कहते हैं। एक्सन के अंत मे विधुत आवेग कुछ रसायनों का विमोचन कराता है। ये रसायन रिक्त स्थान या सिनेप्स को पार करते हैं और अगली तांत्रिक कोशिका की द्रुमिक में  इसी तरह का विधुत आवेग प्रारंभ करते हैं।

3 मस्तिष्क का कौन सा भाग शरीर की स्थिति तथा संतुलन का अनुरक्षण करता है?
उत्तर अनुमस्तिष्क

4 हम एक अगरबत्ती की गंध का पता कैसे लगाते हैं?

 विभिन्न अंगों में सूचना पाने के लिए मस्तिक में कुछ केंद्र होते हैं। जो अग्रामस्तिक में उपस्थित होते हैं गंध के लिए भीतीय पाली होती है।

niyantran aur samanvay kya hai

5 प्रतिवर्ती क्रिया में मस्तिष्क की क्या भूमिका है?

प्रतिवर्ती क्रिया मस्तिक के नियंत्रण में नही होती है। श्रावित प्रतिवर्ती क्रियाएं मेरूरज्जु द्वारा नियंत्रित की जाती है। मस्तिष्क प्रतिवर्ती क्रिया में होने वाले कार्य की सूचना अपने अंदर एकत्रित कर लेता हैं।

जीव जनन कैसे करते हैं

6 पादप हार्मोन क्या है?
पादप अपने विभिन्न भागों से कुछ महत्वपूर्ण रसायन स्रावित करते हैं जो पादपों की वृद्धि तथा अन्य क्रियाओ को नियंत्रित करते हैं उन्हें पादप  हार्मोन कहते है।

छुई मुई पादप की पत्तियों की गति प्रकाश की ओर  प्ररोह की गति से किस प्रकार भिन्न है?
छुई मुई पादप की पतियो की गति वृद्धि से संबंधित न होकर पतियो की कोशिकाओं की स्फीति में परिवर्तन से होती है। पादप में गति करने के लिए कोशिकाएं जल की मात्रा में परिवर्तन करके अपना आकृति बदल लेते हैं, जबकि प्रकाश की ओर गति वृद्धि से संबंधित है।

8 एक पादप हार्मोन का उदाहरण दीजिये जो वृद्धि को बढ़ाता है।
उत्तर आक्सिन हार्मोन।

9 किसी सहारे के चारो ओर एक प्रतान कि वृद्धि में आक्सिन किस प्रकार सहायक है?

जब वृद्धि करता पादप प्रकाश संसूचित करता है, एक हार्मोन जिसे आक्सिन कहते हैं,प्ररोह के अग्रभाग में संश्लेशीत होता है तथा कोशिकाओं की लंबाई में वृद्धि में सहायक होता है।

10 जलानुवर्तन दर्शाने के लिए एक प्रयोग की अभिकल्पना कीजिये।
दो छोटे बीकर ले और उसे A  और B के रूप में नामांकित करें। बीकर A को पानी से भरे। अब एक निष्पंदन पत्र से एक बेलनाकार रोल बनाये तथा उसे बीकर A तथा बीकर B के बीच रखे। निष्पंदन पत्र के अंदर कुछ अंकुरित बीज जमा करें। अब पूरे ढांचे को एक प्लास्टिक बर्तन से ढक दें।

11 जन्तुओ में रसायन समन्वय कैसे होता है?
जन्तुओ में विशेष ग्रंथिया कुछ हार्मोन स्रावित करती है। ये हार्मोन ही रासायनिक समन्वय करते हैं।

12 आयोडीन युक्त नमक के उपयोग की सलाह क्यों दी जाती है?
आयोडीन युक्त नमक के उपयोग की सलाह इसलिए दी जाती है क्योंकि शरीर मे कार्बोहाइड्रेट वसा तथा प्रोटीन के अपचन को थाइराइड नियंत्रत करती है। यह ग्रथि थाइरॉक्सिन नामक हार्मोन स्रावित करती है इस ग्रंथि के लिए आयोडीन की आवश्यकता होती है। आयोडीन की कमी से घेघा रोग होता है।

13 जब एड्रीनलीन रुधिर में स्रावित होती है तो हमारे शरीर मे क्या अनुक्रिया होती है?
एड्रीनलीन सीधा रुधिर में स्रावित हो जाता है और शरीर के विभिन्न भागों तक पहुचा दिया जाता है। हृदय सहित यह लक्ष्य अंगों या विशिष्ट ऊतकों पर कार्य करता है। फलतः हृदय की धड़कन बढ़ जाती है ताकि हमारी पेशियों को अधिक आक्सीजन की आपूर्ति  हो सके।

class 10 science chapter 7 notes in hindi

14 मधुमेह के कुछ रोगियो को चिकित्सा इंसुलिन का इंजेक्शन देकर क्यों कि जाती है?

रक्त में बढ़ी हुई शर्करा के नियंत्रण हेतु इंसुलिन की इंजेक्शन परती है। यह हार्मोन इसे नियंत्रित करता है तथा यह अग्नाशय ग्रंथि द्वारा स्रावित होता है। मधुमेह के रोगियों के इसका स्राव कम होता है अतः इंसुलिन का इंजेक्शन रक्त में शर्करा को नियंत्रित कर देता है।

                                अभ्यास

1 निम्ननिखित में से कौन सा पादप हार्मोन है?
A इंसुलिन
B थायराक्सिन
C एस्ट्रोजन
D साइटोकाइनीं

उत्तर d सएटोकैनिं

2 दो तांत्रिक कोशिका के मध्य खाली स्थान को कहते हैं?
A द्रुमिक
B सिनेप्स
C एक्सान
D आवेग

उत्तर B सिनेप्स

3 मस्तिष्क उत्तरदायी है।
A सोचने के लिए
B हृदय स्पंदन के लिए
C शरीर का संतुलन बनाने के लिए
D उपरोक्त सभी

उत्तर D उपरोक्त सभी

4 हमारे शरीर में ग्राही का क्या कार्य है? ऐसी स्थिति पर विचार कीजिये जहा ग्राही उचित प्रकार से कार्य नही कर रहे हो। क्या समस्याएं उत्पन्न हो सकती है?

हमारे शरीर में ग्राही का कार्य निम्नलिखित है-
1 ग्राही संवेदनशील अंगों में होती है। ये पर्यावरण से सूचनाएं ग्रहण करते हैं।
2 इनके द्वारा व्यक्ति पर्यावरण से स्वयं संतुलित करता है यदि ये उचित तरीके से कार्य न करे तो मस्तिष्क सूचनाएं ग्रहण नही कर पायेगा  या देर से करेगा अतः व्यक्ति असुरक्षित हो जाएगा।

5 एक तांत्रिक कोशिका न्यूरॉन की संरचना तथा इसके कार्यो का वर्णन कीजिए।
Ncert solutions class 10 science chapter 7 - niyantran avam samanvay

तंत्रिका कोशिका न्यूरॉन तंत्रिका तंत्र की क्रियात्मक तथा संरचनात्मक इकाई है। यह तीन हिस्सों में बटी हुई है।
1 द्रुमिक
2 कोशिकाये
3 एक्सान

हमारे शरीर मे संवेदी तंत्रिका तथा वाहक तंत्रिका होती है। संवेदी तंत्रिका ग्राही अंगों से उदीपन प्राप्त कर सूचना को मेरूरज्जु तक ले जाती है तथा वाहक मस्तिष्क से सूचना अंगों तक पहुचाती है।

ncert class 10 science chapter 7 in hindi

6 पादप में प्रकाशानुवर्तन किस प्रकार होता है?
 जर प्रकाश के विपरीत मुड़कर अनुक्रिया करती है। तथा तने प्रकाश की दिशा में मुड़कर अनुक्रिया करते हैं, इसे प्रकाशानुवर्तन कहते हैं। पादप में आक्सिन हार्मोन स्रावित होता है यह सूर्य के प्रकाश में तने के अधर्मये भाग में आ जाता है और वहा की कोशिकाओं को लंबा कर उन्हें प्रकाश की ओर झुका देता है। इसे धनात्मक प्रकाशानुवर्तन कहते हैं। जरे ऋणात्मक दर्शाती है।

7 मेरूरज्जु आघात में किन संकेतो के आने में व्यवधान होगा?
प्रतिवर्ती क्रियाएं सम्पन्न नही हो पाएगी। इसके आलावा सभी सूचनाएं ठीक प्रकार से संचारित नही होगी।

8 पादप में रासायनिक समन्वय किस प्रकार होता है?
पादप कोशिकाये हार्मोन स्रावित करती है। ये हार्मोन वृद्धि, विकास, तथा विभाजन को नियंत्रित करते हैं। ये हार्मोन ही रासायनिक समन्वय स्थापित करते हैं।

9 एक जीव में नियंत्रण एवं समन्वय के तंत्र की क्या आवश्यकता है?

यदि जीव में नियंत्रण एवं समन्वय का तंत्र न हो तो कोशिकाये जीव की इच्छानुसार कार्य नही करेगी। अतः इन पर नियंत्रण अति आवश्यक है। बहुकोशिकीय जीवो में सामान्य क्रियाओ के लिए यह प्रभावशाली है।

10 अनैकच्छिक क्रियाएं तथा प्रतिवर्ती क्रियाएं एक दूसरे से किस प्रकार भिन्न है?

अनैकच्छिक क्रिया
1 इन क्रियाओं को मस्तिष्क नियंत्रित करता है- हृदय का धड़कन, सास लेना।
2 ये क्रियाएं सम्पन्न होने में ज्यादा समय लेती है।

प्रतिवर्ती क्रिया
1 इन क्रिया को मेरूरज्जु द्वारा नियंत्रित किया जाता है। उदाहरण गर्म पदार्थ को स्पर्श करने पर हाथ का हटना।
2 ये क्रियाएं सम्पन्न होने में बहुत कम समय लेती है।

11 जन्तुओ में नियंत्रण एवं समन्वय के लिए तंत्रिका तथा हार्मोन क्रियाविधि की तुलना तथा व्यतिरेक कीजिये।

तंत्रिका क्रिया विधि
1 तंत्रिका तंत्र संवेदी सूचनाएं प्राप्त कर अपना संदेश भेजता है तथा नियंत्रण करता है।
2 शरीर मे तंत्रिका तंत्र अपना जाल बना लेता है तथा इसकी अपनी संरचनात्मक इकाई होती है।

प्रतिवर्ती क्रियाएं
1 शरीर के अंगों में महत्वपूर्ण ग्रंथि ही हार्मोन स्रावित होते हैं ये हार्मोन कई क्रियाएं उदाहरण वृद्धि, विकास, जनन आदि को नियंत्रित करते हैं।
2 हार्मोन स्वयं ही शरीर में स्रावित होते हैं।

12छुई मुई पादप में गति तथा हमारी टांगो में होने वाली गति के तरीकों में क्या अंतर है?
छुई मुई पादप में गति
1 इस पौधे में गति का आधार स्पर्श है।
2 यहाँ गति पतियो के झुकने व खिलने पर आधारित है।
3 यहाँ पातियो के आकार में भी परिवर्तन होता है।

हमारी टांग में होने वाली गति
1 इसमे गति का आधार मानव तंत्रिका तंत्र है।
2 यहाँ गति पेशीय के सिकुड़ने व फैलने पर आधारित है।
3 यहाँ पैर व उसकी पेशियों के आकार में कोई परिवर्तन नही है।

10th class science 7 chapter



Post a Comment

और नया पुराने