ncert solutions for class 10 science chapter 10 परावर्तन तथा अपवर्तन

नमस्कार दोस्तो आज मैं आपके लिए ले कर आया हु ncert solutions class 10 chpater10 का प्रकाश का प्रवर्तन तथा अपवर्तन दोस्तो ये चैप्टर बहुत ही जरूरी है क्योंकि बोर्ड हमेशा इस चैप्टर में से प्रश्न देता ही है, इसलिए ये चैप्टर बहुत जरूरी है।
ncert solutions for class 10 science chapter 10 परावर्तन तथा अपवर्तन


Ncert solutions feature

दोस्तो ncert solutions बहुत ही जरूरी माना जाता है क्योंकि बोर्ड ncert book से ही ज़्यादातर प्रश्न पूछता है इसलिये आपको ncert solutions करना चाहिए जिससे आपको बोर्ड एग्जाम में अच्छे मार्क्स आ सकते हैं।

1 अवतल दर्पण की मुख्य फोकस की परिभाषा दे।
अवतल दर्पण का मुख्य फोकस मुख्य अक्ष पर वह बिंदु होता है जहाँ पर मुख्य अक्ष के समानांतर के बाद मिलती है।

मानव नेत्र एवं रंगबिरंगा संसार

2 एक गोलिये दर्पण की वक्रता त्रिज्या 20cm है। इसकी फोकस दूरी क्या होगी?

R=20cm

f=  r/2
F= 20/2
f=10cm ans

3 उस दर्पण का नाम बताइये जो बिम्ब का सीधा तथा आवर्धित प्रतिबिम्ब बना सके।
Ans अवतल

4 हम वाहनों में उत्तल दर्पण को पश्च दृश्य दर्पण के रूप में वरीयता क्यों देते है?

हम वाहनों में उत्तल दर्पण को पश्च दृश्य दर्पण के रूप में वरीयता देते हैं क्योंकि
1 इसमे प्रतिबिम्ब हमेसा सीधा बनता है।
2 बना प्रतिबिम्ब हमेशा आकार में छोटा होता है।
3 यह पश्च दृश्य के बहुत बरे भाग को दिखाता है।

5 उस उत्तल दर्पण की फोकस दूरी ज्ञात कीजिये जिसकी वक्रता त्रिज्या 32cm है।

f= r/2 
f=32/2

6 कोई अवतल दर्पण अपने सामने 10cm दूरी पर रखे किसी बिम्ब का तीन गुना आवर्धित बड़ा वास्तविक प्रतिबिम्ब बनाता है। प्रतिबिम्ब से कितनी दूरी पर है।

आवर्धित = -3
बिम्ब की दूरी= -10cm
प्रतिबिम्ब की दूरी=?

M=-v/u
-3=-u/-10
V=-30

अतः प्रतिबिम्ब दर्पण के आगे3 30cm की दूरी पर स्थित होगा।

7 वायु में गमन करती प्रकाश की एक किरण जल में तिरछी प्रवेश करती है। क्या प्रकाश किरण अभिलंब की ओर झुकेगी अथवा अभिलंब से दूर हटेगी? बताइये क्यों?

वायु में गमन करती प्रकाश की एक किरण जल में तिरछी प्रवेश करती है तो वह अभिलंब की ओर झुकेगी। यह इसलिए होता है क्योंकि वायु विरल माध्यम है।विरल माध्यम में प्रकाश की चाल सघन माध्यम से अधिक होती है। अतः विरल माध्यम से सघन माध्यम में गमन करती प्रकाश की किरण धीमी हो जाती है तथा अभिलंब की ओर झुक जाती है।

जीव जनन कैसे करते हैं

प्रकाश वायु में 1.50 अपवर्तनांक की काच की प्लेट में प्रवेश करती है। काच में प्रकाश की चाल कितनी है? निर्वात में प्रकाश की चाल 3×10 के पावर 8m/sec है।

काच का अपवर्तनांक= निर्वात में चाल/काच में चाल

1.50 = 3×10 पॉवर 8 / काच में प्रकाश की चाल

काच में प्रकाश की चाल = 3×10 पॉवर 8/1.5

अतः काच में प्रकाश की चाल= 2×10के पॉवर 8m/sec

9 हिरे का अपवर्तनांक 2.42 है। इस कथन का क्या अभिप्राय है?
हीरे का अपवर्तनांक 2.42 है। इसका अर्थ है कि वायु में प्रकाश की चाल तथा हीरे में प्रकाश की चाल का अनुपात 2.42 समान है।

10 किसी लेंस की 1 डिओप्टर क्षमता को परिभाषित कीजिये।
एक डियोप्टर उस लेंस की वह क्षमता होती है जो किसी 1m फोकस दूरी वाले लेंस की होती है।

11 2m फोकस दूरी वाले किसी अवतल लेंस की क्षमता ज्ञात कीजिये।

फोकस दूरी f = -2m = -200cm
P= 1/f p= 1/-200
P= -0.5D Ans

12 निम्न स्थितियों में प्रयुक्त दर्पण का प्रकार बताइये।
a किसी कार का अग्रदीप हैड लाइट

किसी कार का अग्रदीप अवतल दर्पण का होता है। वाहनों के अग्रदीप में प्रकाश की शक्तिशाली समांतर किरण पुंज प्राप्त करने के लिए किया जाता है।

B सौर भट्ठी
सौर भठियो में सूर्य के प्रकाश को केंद्रित करने के लिए बड़े अवतल दर्पण का उपयोग किया जाता है।

13 5cm लंबा कोई बिम्ब 10cm फोकस दूरी के किसी लेंस से 25cm दूरी पर रखा जाता है। प्रकाश किरण आरेख खीचकर बनने वाले प्रतिबिम्ब की स्थिति साइज तथा प्रकृति ज्ञात कीजिये

बिम्ब की ऊँचाई h = 5 cm
बिम्ब की दूरी u = -25cm
लेंस की फोकस दूरी f = 10cm

लेंस सूत्र = 1/f=1/v-1/u
1/v=1/f+1/u
1/v=1/10+1/-25
1/v=5-2/50
1/v=3/50
V=50/3
V= 16.67cm

प्रतिबिम्ब वास्तविक उल्टा तथा लेंस के दूसरी ओर बनता है।
आवर्धन =h1/h=v/u
प्रतिबिम्ब उचाई= h×v/u
5×50/3/-25
5×50/3×1/-25
H= -10/3cm
H1=-3.33cm Ans

14  एक समतल दर्पण द्वारा उत्पन आवर्धन +1 है इसका क्या अर्थ है?
आवर्धन का धनात्मक (+) चिन्ह का अर्थ है कि प्रतिबिम्ब आभासी है।
M=+1 का अर्थ है कि प्रतिबिम्ब का आकार बिम्ब के आकार के समान है।

अम्ल एवं क्षार पढ़े

15 5.0cm लंबाई का कोई बिम्ब 30cm वक्रता त्रिज्या के किसी उत्तल दर्पण के सामने 20cm दूरी पर रखा गया है। प्रतिबिम्ब की स्थिति प्रकृति तथा साइज ज्ञात कीजिये।

उत्तल दर्पण की त्रिज्या = 30cm
दर्पण की फोकस दूरी= r/2

दर्पण से बिम्ब की दूरी= -20cm
बिम्ब का आकार/उचाई= -5.0cm
प्रतिबिम्ब की दूरी=?
प्रतिबिम्ब का आकार= ?

दर्पण सूत्र से
1/f=1/v+1/u
1/v= 1/f-1/u
1/v= 1/50-1/-20
1/v= 1/15+1/20
1/v=4+3/60
V= 60/7= 8.57cm
अतः प्रतिबिम्ब दर्पण के पीछे 8.57cm की दूरी पर बनेगा।

आवर्धन = -v/u
-60/7/-20/1
-60/7×1/-20
3/7

M=h1/h
3/7=h1/5
h1= 15/7
2.14cm

अतः प्रतिबिम्ब आभासी सीधा तथा आकार में 2.14cm होगा।

16 उस लेंस की फोकस दूरी ज्ञात कीजिये जिसकी क्षमता -2D है। यह किस प्रकार का लेंस है।

लेंस की क्षमता = -2D
P=1/f(m)
-2.0= 1/f(m)
F(m)= -1/2.0
-0.5D

अतः लेंस की फोकस दूरी5 50cm है। क्योंकि लेंस की क्षमता ऋणात्मक है इसलिये लेंस अवतल है।

17 कोई डॉक्टर 1.5D क्षमता का संशोधक लेंस निर्धारित करता है लेंस की फोकस दूरी ज्ञात कीजिये।क्या निर्धारित लेंस अभिसारी है अथवा अपसारी?

दिए गए संशोधित लेंस की क्षमता = 1.5D

1.5 = 1/f(m)

F(m)= 1/1.5
10/15=2/3

F= 2×100/3=200/3cm
f=66.66cm

अतः लेंस की फोकस दूरी 66.66cm है। अतः यह अभिसारी लेंस है।

नोट ---  दोस्तो आज की इस पोस्ट में मैंने आपको ncert solutions class 10  science का चैप्टर 10 का प्रकाश का प्रवर्तन तथा अपवर्तन के बारे में ncert प्रश्न दिया है। जिसे पढ़कर आप बोर्ड एग्जाम में अच्छेअंक ला सकते हैं।


Post a Comment

नया पेज पुराने